देश दुनिया

Deoghar Airport से देश-विदेश तक सफर का ले मजा, अब बांग्‍लादेश और सिंगापुर के लिए भी मिलेगी फ्लाइट..!

बाबा बैद्यनाथ के दर्शन करने की तमन्ना रखने वालों को एयरपोर्ट से बड़ी सहूलियत होगी। जैन धर्म का पवित्रतम तीर्थ पारसनाथ आने वाले श्रद्धालुओं को भी इसका लाभ मिलेगा।

Image Source-Internet (फाइल फोटो)

अब तक गुजरात और मुंबई से गिरिडीह आने वाले कोलकाता या रांची एयरपोर्ट उतरकर देवघर या पारसनाथ सड़क मार्ग से आते थे। कोलकाता तक आने में इनको आठ से दस हजार रुपये किराया देने के बाद कम से कम पांच हजार रुपये टैक्सी में देकर यहां तक आना होता था। अब देवघर एयरपोर्ट तक वे इसी आठ से दस हजार रुपये में आ जाएंगे। दो हजार रुपये में देवघर से टैक्सी कर पारसनाथ पहुंच जाएंगे। अब देवघर एयरपोर्ट पर पारसनाथ जाने वाले जैन धर्मावलंबी भी आकर गंतव्य को जा सकेंगे। देवघर को ध्यान में रख देश व विदेश के कई बड़े शहर के लिए इंडिगो ने वाया कोलकाता बुकिंग शुरू कर दी है।

देवघर एयरपोर्ट से कनेक्टिंग फ्लाइट ढाका, बैंकाक, सिंगापुर

इंडिगो की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट गोइंडिगो डाट इन पर सर्च करने पर यह जानकारी मिल जाएगी। इंडिगो के एक अधिकारी ने बताया कि देवघर से वाया कोलकाता देश व विदेश के चुनिंदा शहर की कनेक्टिंग फ्लाइट दी गई है। जैसे ही दिल्ली के लिए देवघर से विमान सेवा शुरू होगी वाया दिल्ली देश व विदेश के शहर जुड़ जाएंगे। यात्री वाया कोलकाता या दिल्ली अपना सफर कर लेंगे। अभी वाया कोलकाता देवघर से बैंकाक, ढाका, सिंगापुर, बागडोगरा, पोर्टब्लेयर, गुवाहाटी, लखनऊ, मुंबई, अमृतसर, अहमदाबाद, हैदराबाद, भुवनेश्वर, नागपुर, पुणे, गोआ, जयपुर, चेन्नई को फ्लाइट है। यात्रियों को साइट पर जाकर कोलकाता से फ्लाइट का समय देखना होगा।

दिल्ली के लिए हर दिन देवघर से मिल जाएंगे 180 यात्री

इंडिगो ने जो सर्वे किया है उसके मुताबिक दिल्ली की फ्लाइट शुरू होगी तो हर दिन 180 सीटर जहाज में एक भी सीट खाली नहीं रहेगी। देवघर के जसीडीह स्टेशन से हर दिन 300 यात्री रेलवे के तीन ट्रेन में एसी से सफर करते हैं। जब एयर बस की सुविधा उनको मिलने लगेगी तो वह ट्रेन से जाने की जगह हवाई जहाज से जाना चाहेंगे। भागलपुर से भी दिल्ली को जाने के लिए कई ट्रेन हैं। उसमें बहुत समय लगता है। अब वे लोग भी देवघर आकर हवाई सेवा का आनंद ले सकेंगे। भागलपुर के लोग अभी पटना जाकर फ्लाइट ले रहे थे। पटना जाने में पांच घंटे लगते थे। देवघर आने में तीन घंटे लगेंगे।

एम्स में पढ़ने वाले छात्रों को भी लाभ

एम्स में पढ़ने वाले छात्रों को भी लाभ होगा। यहां सौ एमबीबीएस की सीटें हैं। सुविधा शुरू होगी तो छात्र व उनके अभिभावक एयर बस का लाभ लेंगे। एम्स के चिकित्सकों को भी सुविधा मिलेगी, उनका भी समय बचेगा। दो दिन की छुट्टी में भी अपने घर जा सकेंगे। इंडिगो के अधिकारी गुरुवार को चैंबर के साथ एक बैठक कर रहे हैं। वे कुछ घोषणा कर सकते हैं। इंडिगो एयरलाइंस की टीम एम्स प्रबंधन और पारसनाथ जाकर भी संवाद करेगी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button