झारखंड की खबरे

सीएम हेमंत सोरेन आज होंगे ईडी कार्यालय में पूछताछ के लिए पेश अपने विधायकों की बुलाई बैठक फैसला लेने के लिए तैयार होने को कहा…

हेमंत सोरेन की व्यस्तता के कारण ईडी ने दूसरा समन जारी कर मुख्यमंत्री को 17 नवंबर यानी कि आज पेश होने को कहा है .हेमंत सोरेन आज ईडी कार्यालय पहुंचेंगे और वहां उनसे ईडी पूछताछ करेगी .झारखंड की राजनीतिक परिस्थितियां तेजी से बदल रही है़ आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इडी के समक्ष पेश होंगे. वह दिन के 11 से 12 बजे की बीच इडी कार्यालय पहुंचेंगे. इधर बदली हुई परिस्थिति में यूपीए रणनीति बनाने में जुटा है़. यूपीए विधायकों ने हर फैसले के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अधिकृत किया. यूपीए विधायकों ने कहा : हम साथ हैं. यूपीए फिलहाल वेट एंड वाच की स्थिति में है. मुख्यमंत्री श्री सोरेन ने कहा कि परिस्थिति के अनुसार किसी भी फैसले के लिए तैयार रहें.

 

 

मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक…

 

बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में पहले झामुमो विधायकों की बैठक हुई़. इसमें सर्वसम्मति से हेमंत सोरेन को फैसला लेने के लिए अधिकृत किया गया. इसके बाद यूपीए विधायको की साझा बैठक हुई़. सभी विधायकों को रांची में ही रहने को कहा गया है.

 

बुधवार दोपहर कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के आवास में पार्टी विधायकों की बैठक भी हुई. हालांकि इसमें पार्टी के निलंबित विधायकों सहित आठ विधायक नहीं पहुंचे. कांग्रेसी विधायकों ने कहा कि वह पूरी एकजुटता के साथ वर्तमान परिस्थिति से लड़ेंगे. देर शाम मुख्यमंत्री श्री सोरेन के आवास पर गठबंधन के विधायक साथ बैठे.

 

विपक्ष पर जमकर बरसे हेमंत सोरेन..

 

इडी के समक्ष पेशी के एक दिन पूर्व हेमंत सोरेन जम कर बरसे भी. उन्होंने झामुमो कार्यकर्ताओं से कहा कि आप डटे रहिये, मैं सबको एक-एक कर देख लूंगा. भाजपा का नाम लिये बिना कहा कि ये हर तरह के प्रयास में लगे हैं मुझे सत्ता से बेदखल करने के लिए. आप डटे रहिए मैं सबको एक – एक कर देख लूंगा.

 

हेमंत सोरेन ने अपने आवास में झामुमो मिलन समारोह को संबोधित किया. समारोह में गांडेय के पूर्व विधायक व भाजपा नेता जयप्रकाश वर्मा अपने समर्थकों के साथ झामुमो में शामिल हुए.

 

समारोह को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि षडयंत्रकारी पनडुब्बी पानी से निकलने की तैयारी कर रहा है, उसको जवाब देना है. उन्होंने कहा कि बाहर से आकर राजनीति करनेवाले लोगों को बाहर ही खदेड़ देंगे. इस राज्य में वही राज कर सकता है, जो आदिवासी – मूलवासी की भावना समझता हो. झामुमो ही इस भावना को बखूबी समझ सकती है.

 

अब समय आ गया है कि आदिवासी-मूलवासी एक ही छत के नीचे आयें. यह आपको तय करना है कि षडयंत्रकारियों का राज चलेगा या यहां के आदिवासियों और मूलवासियों का. इनको पता है कि अगर इस आदमी ने पांच साल तक काम किया, तो यहां के आदिवासी-मूलवासी को इतना मजबूत कर देगा कि उनको बाहर जाना होगा.

 

बैठक में नहीं पहुंचे निलंबित विधायक..

 

रांची. कांग्रेस के तीनों निलंबित विधायक इरफान अंसारी, राजेश कच्छप व नमन विक्सल कोंगाड़ी को विधायक दल की बैठक में नहीं बुलाया गया. तीनों कैश कांड में कोलकाता में पकड़े गये थे. हाल ही में जमानत पर छूट कर रांची आये हैं. इधर व्यस्तता की वजह से बैठक में मंत्री रामेश्वर उरांव, विधायक उमाशंकर अकेला, रामचंद्र सिंह, ममता देवी, शिल्पी नेहा तिर्की उपस्थित नहीं हुए. हालांकि इन्होंने इसकी जानकारी पहले ही पार्टी को दे दी थी.

 

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button