झारखंड की खबरे

मिशन 2047.. भारत को बनाने वाले थे इस्लामिक स्टेट, जानिए क्या है आतंकियों का बिहार और झारखण्ड कनेक्शन,3 गिरफ्तार…26 नामजद

TEAM_JILLATOP : भारत में आतंकवाद की पैठ कितने अंदर तक है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की देश की सरहद से हजारों किलोमीटर दूर बिहार की राजधानी पटना में सुरक्षा एजेंसीयों ने 2 आतंवदियों को बीते दिन गिरफ्तार किया है l इनका मिशन साल 2047 तक भारत को इस्लामिक स्टेट बनाने का था l लेकिन इनके मंसूबे पुरे हो पाते उससे पहले हीं देश की सुरक्षा एजेंसी ने उन्हें धर दबोचा l पकड़े गए आतंकियों के पास से कई फर्जी दस्तावेज, बैंक अकाउंट, सिम कार्ड, मोबाइल भी जब्त किये गए हैँ l

terror in patna exposed

पुलिस के हाथ पाँव इस बात से फुले हुए हैँ की जिन मोबाइल फ़ोन को जब्त किया गया है उनमें मौजूद वाट्सअप ग्रुप में अधिकतर लोग बांग्लादेश और पाकिस्तान के हैँ l पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने वाट्सऐप ग्रुप बना रखा था, जिसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश, यमन के लोग जुड़े थे। ग्रुप में जितने भी नंबर हैं, सभी की तकनीकी जांच की जाएगी l अभी जांच में यहां का जो भी नंबर मिलेगा, उनके उपयोगकर्ताओं को गिरफ्तार किया जाएगा l

इसके अलावा एक जानकारी ये भी की पटना से सटे फुलवारीशरीफ से पापुलर फ्रंट आफ इंडिया PFI से जुड़े तीन संदिग्ध पकड़े जा चुके हैं। उनमें से एक जलालुदद्दीन झारखंड में दारोगा के पद से रिटायर है, जबकि दूसरा सिमी का सक्रिय सदस्य अतहर परेवज है l तीसरा आरोपि अरमान मलिक है। इस मामले में 26 नामजद हैं, जिनमें से अब तक चार की गिरफ्तारी हो चुकी है l जांच में मिली जानकारी के अनुसार ये सभी राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में संलिप्त था और भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने की मुहिम में कई देशों के आतंकी संगठनों के संपर्क में था l

वाट्सअप ग्रुप में जुड़े हुए थे पाकिस्तान और बांग्लादेश के लोग

पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने वाट्सऐप ग्रुप बना रखा था, जिसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश, यमन के लोग जुड़े थे। ग्रुप में जितने भी नंबर हैं, सभी की तकनीकी जांच की जाएगी l अभी जांच में यहां का जो भी नंबर मिलेगा, उनके उपयोगकर्ताओं को गिरफ्तार किया जाएगा l
सबसे पहले बुधवार को दो संदिग्धों की गिरफ्तारी हुई l इसके बाद गुरुवार को NIA की टीम ने पटना के फुलवारी शरीफ इलाके में छापा मारा l पेट्रोल लाइन इलाके से एक और संदिग्‍ध को हिरासत में लिया गया l इनके इरादे काफी खतरनाक थे l आतंकियों की फुलवारी शरीफ में दंगा फैलाने की प्लानिंग थी l लेकिन पहले ही इनके मंसूबों के बारे में पता चल गया और इनको समय रहते पकड़ लिया गया l

terror in patna exposed

अहमद पैलेस में चल रही थी ट्रेनिंग

बुधवार को जिन दो आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था इनमें से एक का नाम मोहम्मद जलालुद्दीन है जो झारखंड पुलिस का रिटायर्ड सब-इंस्पेक्टर है l इसीके मकान पटना स्थित मकान अहमद पैलेस से आतंकी गतिविधियां चलती थी l मामले में जिस दूसरे संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया गया है उसका अतहर परवेज है और यह फुलवारीशरीफ के गुलिस्तान मुहल्ले का रहने वाला है l जानकारी के अनुसार वो आतंकी संगठन सिमी का पूर्व सदस्य रह चुका है l और अभी वर्तमान में PFI और SDPI का सक्रिय सदस्य है l यह भी जानकारी सामने आई है कि 2014 में नरेंद्र मोदी की रैली में एक ब्लास्ट हुआ था और अतहर परवेज ने ही गांधी मैदान के ब्लास्ट के आरोपियों को बेल दिलाया था l इन सब आतंकियों से NIA और ATS की टीम ने पूछताछ कर रही है l

पुलिस को मिला ” मिशन 2047 ” का डॉक्यूमेंट

ज़ब पुलिस छापेमारी कर रही थी तो छापेमारी में पुलिस को ‘इंडिया-2047’ डॉक्यूमेंट मिला l ये लोग 2047 तक भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने की योजना पर काम कर रहे थे l इसी आधार पर पटना के फुलवारी शरीफ से साजिश रची जा रही थी l इस मिशन 2047 के लिए के विशेष समुदाय के लोगों को आतंक की ट्रेनिंग भी दी जा रही थी l ट्रेनिंग में कई राज्यों के मुस्लिम युवा शामिल होते थे l इसके लिए पाकिस्तान-बांग्लादेश से फंडिंग किए जाने की भी जानकारी सामने आई है l अतहर परवेज मुस्लिम युवाओं को ट्रेनिंग देता था l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button