All News

साहेबगंज टेंडर घोटाला” मामले में बड़ी कार्रवाई ! अब तक करीब सवा पांच करोड़ रुपये जप्त किए जा चुके है। आरोपी हीरा भगत के ही ठिकानों से ही सिर्फ निकले 3 करोड़ 11 लाख रुपए।

झारखंड में “साहेबगंज टेंडर घोटाला” मामले में एक बड़ी कार्रवाई कि है। झारखंड टेंडर घोटाला मामले में आज शाम तक हुई छापेमारी में अब तक करीब सवा पांच करोड़ रुपये जप्त किए जा चुके हैं।ईडी ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साहिबगंज स्थित प्रतिनिधि पंकज मिश्र और उनके करीबियों के लगभग एक दर्जन ठिकानों पर शुक्रवार सुबह छापेमारी की। रांची, साहिबगंज, राजमहल और बरहेट में ईडी की अलग-अलग टीमों ने सुबह पांच बजे से एक साथ दबिश दी।केंद्रीय जांच एजेंसी ED ने आरोपी हीरा भगत के आवास से जब्त किया करीब तीन करोड़ 11 लाख रुपये।एक अन्य आरोपी के पास से 91 लाख और 45 लाख रुपये किया गया है बरामद।

झारखंड में आज ईडी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के कई ठिकानों में रेड किए।

ED के सूत्रों के मुताबिक ये जब्त करोड़ो रूपये हो सकते हैं अवैध तौर पर माइनिंग घोटाला से जुड़ा हुआ जब्त नकदी की काउंटिंग अभी भी है जारी।बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई राज्य में खनन घोटाले और मनी लांड्रिंग से जुड़े मामले में की गई। खबर है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को ED ने हिरासत में ले लिया है और इसकी वजह से हेमंत सोरेन के लिए भी परेशानी खड़ी हो सकती है।

बता दें कि सीएम हेमंत सोरेन विधानसभा में साहिबगंज जिले के बरहेट विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं और इस क्षेत्र के लिए उन्होंने पंकज मिश्र को अपना प्रतिनिधि बना रखा है। ईडी ने पंकज मिश्र के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पंकज मिश्रा पर पहले ही केस दर्ज किया है। पंकज मिश्रा के रांची और साहिबगंज स्थित ठिकानों के साथ-साथ उनके करीबी साहिबगंज के मिर्जाचौकी स्थित कारोबारी राजू, पतरु सिंह और ट्विंकल भगत, साहिबगंज में फेरी सेवा जहाज के संचालक राजेश यादव उर्फ दाहू यादव, बड़हरवा में पत्थर व्यवसायी कृष्णा सहित तीन लोगों के घरों के अलावा कुछ होटलों में भी ईडी की टीमें तलाशी अभियान चला रही हैं।

बता दें कि मई में झारखंड में मनी लॉन्ड्रिंग केस में आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की थी। छापेमारी के बाद कई दस्तावेजों और करोड़ों की नकदी बरामदगी के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। पूजा सिंघल खान सचिव के पद पर तैनात थीं और उनसे राज्य में खनन पट्टों के आवंटन में हुई गड़बड़ियों और विभिन्न जिलों में अवैध खनन को लेकर पूछताछ हुई थी। इस मामले में कई बार सीएम के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा का नाम सामने आया था। उन्हें भी खनन पट्टा आवंटित किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button