All News

CRPF जवान ने अफसरों के दुर्व्यवहार के कारण की आत्महत्या!!!!! अपनी पत्नी और 8 साल की बच्ची को 18 घंटे तक रखा हुआ था बंधक!!

राजस्थान के जोधपुर में एक (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल) सीआरपीएफ जवान, जिसने अपने परिवार को बंधक बना लिया था और खुद को उनके साथ बंद कर लिया था, ने सोमवार सुबह 11 जुलाई को खुद को गोली मार ली। सीआरपीएफ जवान ने कथित तौर पर एक इंसास राइफल और 40 राउंड ले लिए थे। रविवार शाम उसने हवा में आठ राउंड फायरिंग की थी, जिससे इलाके में दहशत फैल गई थी। बंधक की शुरुआती स्थिति सामने आने के करीब 18 घंटे बाद जवान ने खुद को गोली मार ली। पुलिस आयुक्त रविदत्त गौर ने गोलीबारी की पुष्टि की। सीआरपीएफ प्रशिक्षण केंद्र में तैनात सीआरपीएफ जवान ने रविवार शाम करीब पांच बजे अपनी पत्नी और बेटी को बंधक बना लिया.

उन्होंने खुद को उनके साथ सर्विस क्वार्टर में बंद कर लिया। मृतक सीआरपीएफ जवान नरेश जाट राजस्थान के पाली जिले का रहने वाला है और कुछ बातों को लेकर असंतुष्ट था। वह कथित तौर पर मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का भी सामना कर रहा था। जाट के साथ उनकी पत्नी और 8 साल की बेटी को भी सर्विस क्वार्टर के अंदर छिपा दिया गया। इसके चलते पुलिस स्थिति को संभालने में सतर्क रही। नरेश के पिता ने उनसे फोन पर तीन बार बात की। लेकिन इसके बाद उनका फोन स्विच ऑफ हो गया। 18 घंटे के बाद स्थिति शांत हुई। कथित तौर पर छिपे हुए सीआरपीएफ जवान ने खुद को गोली मार ली।

 

जवान नरेश जाट का (CRPF Jawan Naresh Jat Suicide Case) अब पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा. सोमवार को जवान ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर लियादुर्व्यवहारदुर्व्यवहारथा. इसके बाद परिवार ने शव लेने से इनकार कर दिया था. गुरुवार को सीआरपीएफ के ट्रेनिंग एडीजी रश्मि शुक्ला के साथ वार्ता के बाद परिवार शव उठाने के लिए राजी हो गया. इस मामले में सीआरपीएफ ट्रेनिंग एडीजी ने कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही जवान विकास कुमार और सन्दीप कुमार की आत्महत्या की भी जांच होगी.

सीआरपीएफ ट्रेनिंग एडीजी रश्मि शुक्ला ने जवान नरेश जाट के परिजनों को धन्यवाद दिया कि उन्होंने अंतिम समय तक न्याय के लिए लड़ा. इसके साथ ही मृतक की पत्नी को सरकारी नोकरी और उनकी बेटी की पढ़ाई की जिम्मेदारी उठाने की आश्वासन दिया गया है. इसके साथ ही मदद के तौर पर 25 लाख रुपये भी परिवार को सौंपा जाएगा. इसके साथ ही संसद में आयोग गठन की मांग करने की बात भी अधिकारी ने कही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button