All News

Bullet Train से चांद तक पहुंचाएगा जापान! धरती से खुलेगी ट्रेन, सीधे चंद्रमा तक जाएगी… मंगल तक पहुँचने का भी हो रहा है प्लान।

Bullet Train to Moon and Mars: अक्सर हमसे कहा जाता है कि जिंदगी में कुछ बड़ा सोचो, कुछ बड़ा सोचो! जापान (Japan) ने इस बार सच में बहुत बड़ा सोचा है. जापान की इस सोच के आगे एलन मस्क की सोच भी काफी पीछे दिख रही है. इधर, भारत समेत कई देश अपने स्पेस अभियानों (Space Programme) में लगे हैं और उधर जापान ने लोगों को बुलेट ट्रेन से ही धरती से चांद पर पहुंचाने की ठान ली है. जापान की योजना है कि वह धरती से एक बुलेट ट्रेन चलाएगा, जो लोगों को चांद तक ले जाएगी. इस प्लान में सफलता मिलने के बाद जापान बुलेट ट्रेन से ही लोगों को मंगल ग्रह पर भी भेजेगा

धरती से चांद तक बुलेट ट्रेन चलाने की योजना पर जापान ने प्लान करना शुरू कर दिया है. जापान के इस मेगा प्रोजेक्ट में मंगल ग्रह पर ग्लास हैबिटेट बनाने की भी योजना है. यानी धरती से जो लोग बुलेट ट्रेन के माध्यम से वहां भेजे जाएंगे, वे वहां एक आर्टिफिशियल स्पेस हैबिटेट में रहेंगे. इस रहेगा, जिसका आर्टिफिशियल स्पेस हैबिटेट सेंटर का माहौल धरती जैसा बनाया जाएगा.

चांद और मंगल पर रहने लगेंगे लोग!

इंडियन हेराल्ड की रिपोर्ट के अनुसार, जापान की क्योटो यूनिवर्सिटी और काजिमा कंस्ट्रक्शन ने मिलकर यह योजना बनाई है. वैज्ञानिकों की टीम ने पिछले दिनों प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बारे में जानकारी दी. वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि 21वीं सदी की आधी अवधि बीतने के बाद यानी इसके दूसरे हिस्से में (After 2050) इंसान चांद और मंगल पर रहने लगेगा

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (फाइल फोटो)

चांद और मंगल पर धरती जैसा माहौल

आर्टिफिशियल स्पेस हैबिटेट के बारे में वैज्ञानिकों ने बताया है कि वहां भी इतनी ग्रैविटी (गुरुत्वाकर्षण) होगा, जो धरती जैसा ही असर करेगा. वहां भी ऐसा वायुमंडल तैयार किया जाएगा, जो ​इंसानों को धरती की तरह महसूस कराए. ऐसा इसलिए भी कि कम ग्रैविटी वाली जगहों पर इंसानों की हड्डियां और मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं.

ऐसा होगा स्पेस हैबिटेट

एक तरफ जहां भारत कई स्पेस अभियानों में लगा है, अमेरिका फिर से चांद पर जा रहा है, चीन मंगल ग्रह पर खोज में लगा हुआ है, रूस भी चीन संग चंद्रमा के लिए जॉइंट मिशन प्लान कर रहा है, वहीं भारत के इस करीबी मित्र देश (जापान) ने बुलेट ट्रेन और आर्टिफिशियल स्पेस हैबिटेट का मेगा प्रोजेक्ट तैयार किया है. कहा जा रहा है कि जापान अपने इस मेगा प्रोजेक्ट में लग गया है. हालांकि इसमें अभी समय लगेगा, लेकिन आने वाले दशकों में इंसानों का चांद, मंगल और अन्य ग्रहों पर भी रहना आसान होगा.

चांद और मंगल पर कैसी होगी कॉलोनी?

इंसानों के रहने के लिए चांद और मंगल ग्रह पर कॉलोनी बनाई जाएगी. यह ग्लास कॉलोनी ऐसी होगी, जहां इंसान आराम से रह सकेंगे. कॉलोनी के अंदर सबकुछ सामान्य रहेगा और हो सकता है अंदर रहने के लिए आपको कुछ खास कष्ट न करना पड़े लेकिन बाहर जाने के लिए आपको स्पेससूट पहनना होगा. हालांकि बाहर स्पेस में रहने पर मांसपेशियों और हड्डियों पर प्रभाव पड़ता है, वे कमजोर पड़ सकती हैं, इसलिए कॉलोनी के अंदर रहना आरामदायक रहेगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button