All Newsदेश दुनिया

बांग्लादेश में हिंदू देवता की मूर्ति को खंडित पाया गया अधिकारी कर रहे हैं जांच…

बांग्लादेश में हिंदू देवता की मूर्ति को खंडित पाया गया यह न्यूज़ आग की तरह फैल रही है । बांग्लादेश गणतन्त्र दक्षिण एशिया का एक राष्ट्र है। देश की उत्तर, पूर्व और पश्चिम सीमाएँ भारत और दक्षिणपूर्व सीमा म्यान्मार देशों से मिलतीं हैं; दक्षिण में बंगाल की खाड़ी है। बांग्लादेश और भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल एक बांग्लाभाषी अंचल, बंगाल हैं, जिसका ऐतिहासिक नाम बंग या बांग्ला है । रिपोर्ट के मुताबिक यह भी कहा जाता है कि बांग्लादेश की आबादी में 10% हिंदू भी मौजूद है ।

 

क्या है पूरा मामला…

बांग्लादेश में एक प्राचीन काल के हिंदू मंदिर में एक देवता की मूर्ति को कुछ अज्ञात लोगों ने खंडित कर दिया । अधिकारियों ने शुक्रवार को इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि इन लोगों का पता लगाने के लिए सर्च अभियान चलाया जा रहा है ।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मंदिर समिति के अध्यक्ष सुकुमार कुंडा ने बताया कि बांग्लादेश के झेनाइदाह जिले के दौतिया गांव के काली मंदिर में अधिकारियों को खंडित मूर्ति के कुछ टुकड़े मिले है । मूर्ति का ऊपरी हिस्सा मंदिर परिसर से आधा किलोमीटर दूर सड़क पर पड़ा हुआ था । कुंडा ने कहा कि काली मंदिर प्राचीन काल से ही हिंदुओं का पूजा स्थल रहा है ।

यह घटना बांग्लादेश में 10 दिवसीय वार्षिक दुर्गा पूजा उत्सव के समाप्त होने के एक दिन बाद हुई । बांग्लादेश पूजा उत्सव परिषद के महासचिव चंदनाथ पोद्दार ने बताया, घटना रात में झेनाइदाह के मंदिर में हुई । प्रख्यात ढाका विश्वविद्यालय में गणित के प्रोफेसर पोद्दार ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताया है । उनका कहना है कि क्योंकि पूरे देश में दस दिवसीय उत्सव में कोई व्यवधान पैदा नहीं हुआ, ऐसे में इस घटना का होना दुर्भाग्यपूर्ण है ।

बांग्लादेश प्रशासन कर रही है मामले का जांच…

झेनाइदाह पुलिस के सहायक अधीक्षक अमित कुमार बर्मन ने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है और संदिग्धों की तलाश की जा रही है । इस घटना को छोड़कर, इस साल पूरे बांग्लादेश में दुर्गा पूजा उत्सव काफी शांतिपूर्वक मनाया गया । गौरतलब है कि पिछले साल देश में दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा और झड़पों में कम से कम छह लोगों की मौत हुई थी और सैकड़ों घायल हो गए थे । बांग्लादेश की करीब 16 करोड़ 90 लाख की आबादी में लगभग 10 प्रतिशत हिंदू हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button