तकनीकदेश दुनिया

अडानी 5G की दौड़ में होंगे शामिल, खबर पर मुहर लगते ही टूट गए कॉम्पिटिटर कंपनी के शेयर 

5जी स्पेक्ट्रम नीलामी की दौड़ में अडानी समूह का सीधा मुकाबला मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो (JIO) और दिग्गज सुनील भारती मित्तल की एयरटेल के साथ होगा। इस खबर के आते ही एयरटेल में शेयरों में गिरावट आई है।

गौतम अडानी (Gautam Adani) जल्द ही टेलीकॉम सेक्टर (Telecom sector) में प्रवेश कर जाएंगे। अडानी ग्रुप ने इस महीने के आखिर में होने वाली 5G स्पेक्ट्रम नीलामी में हिस्सा लेने के लिए आवेदन किया है। 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी की दौड़ में अडानी समूह का सीधा मुकाबला मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो (JIO) और दिग्गज सुनील भारती मित्तल की एयरटेल (Bharti airtel) के साथ होगा। इस खबर के आते ही एयरटेल में शेयरों में आज सोमवार को भारी गिरावट देखी गई। कंपनी के शेयर शुरुआती कारोबार में 5% तक टूट गए।

अडानी ग्रुप ने कर दी है पुष्टि

अडानी ग्रुप द्वारा टेलीकॉम स्पेक्ट्रम हासिल करने की दौड़ में अपने प्रवेश की पुष्टि करने के बाद आज भारती एयरटेल के शेयर सेंसेक्स में सबसे बड़ी गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं। भारती एयरटेल के शेयर बीएसई पर 4.72% की गिरावट के साथ 662.40 रुपये पर कारोबार कर रहे हैं। शुरुआती कारोबार में देश की प्रमुख दूरसंचार कंपनियों के शेयरों पर दबाव रहा और भारती एयरटेल को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ। भारती एयरटेल का शेयर बीएसई पर 695.25 रुपये के पिछले बंद के मुकाबले 4.89 प्रतिशत गिरकर 661.25 रुपये पर आ गया। भारती एयरटेल के शेयर 5 दिन, 20 दिन, 50 दिन, 100 दिन और 200 दिन के मूविंग एवरेज से नीचे कारोबार कर रहे हैं। इस स्टॉक में एक साल में 24 फीसदी की तेजी आई है लेकिन 2022 में 2.74 फीसदी की गिरावट आई है। बीएसई पर एयरटेल का मार्केट कैप 3.64 लाख करोड़ रुपये तक गिर गया। वहीं, रिलायंस जियो की पैरेंट कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर शुरुआती कारोबार में 0.52 फीसदी की गिरावट के साथ 2,379 रुपये पर कारोबार कर रहा था। दूसरी तरफ अडानी ग्रुप की प्रमुख यूनिट अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर बीएसई पर 2.04 फीसदी की तेजी के साथ 2,339.80 रुपये पर पहुंच गए।

Adani Group स्पेक्ट्रम का उपयोग हवाई अड्डों से लेकर बिजली और डेटा केंद्रों तक अपने व्यवसायों का समर्थन करने के लिए एक निजी नेटवर्क बनाने के लिए करेगा। अडानी समूह ने एक आधिकारिक बयान में कहा, ‘‘भारत इस नीलामी के जरिए अगली पीढ़ी की 5जी सेवाएं शुरू करने की तैयारी कर रहा है, और हम खुली बोली प्रक्रिया में भाग लेने वाले कई आवेदनों में से एक हैं।’’ इस बयान में आगे कहा गया है, ‘‘हम हवाई अड्डों, बंदरगाहों और लॉजिस्टिक, बिजली उत्पादन, वितरण और विभिन्न विनिर्माण कार्यों में बढ़ी हुई साइबर सुरक्षा के साथ ही निजी नेटवर्क समाधान मुहैया कराने के लिए 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी में भाग ले रहे है

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button